... ON BORROWING a BOOK VS BUYING IT

""When you buy it, you are promoting the literature of your country.""

ई-मेल में सूचनाएं, पत्रिका व कहानी पाने के लिये सब्स्क्राइब करें (यह निःशुल्क है)

अस्पताल का प्रांगण -

दुखी, कष्टसाध्य और रुग्ण रोगी की लम्बी श्रंखला -

चिकित्सक कक्ष में जारी है जांच और सही जांच के द्वारा रोग की जड़ तक पहुँचने की जद्दोजहद.

तिस पर हरेक को शीघ्रता है कि जल्दी पाने डॉक्टर के पास  पहुंचू. रोगी की शीघ्रता है कि तुरंत उपचार शुरू हो और मैं दौड़ता हुआ अस्पताल से बाहर निकलूं,...

February 20, 2019

"मेरी बेटी का पहला कातिल उसका बाप है -"

अंजना सवि

anjana.savi@gmail.com

 

खेत खलिहान नहीं खाद से रोपे ,

भले भूमि बंजर हो हो जाये

पशु गौधन कोई और पाले,

दूध घी मेरा, कभी मैं समझा नहीं.....१

अच्छी सेहत को खा पी के बिगाड़ लिया,

घर का भोजन भाये नहीं,

फिर दवाई से करो उपचार,

मेहनत होवे नहीं, कभी मैं समझा नहीं....२

सड़क के लाल संकेत पर मैं रुकता नहीं,

तेज गति मेरी  अनमोल,

घायल होए तो गुस्सा...

सुधा गोयल " नवीन"

goelsudha@gmail.com

9334040697

3533 सतमला विजया हेरिटेज फेस - 7

कदमा ,  जमशेदपुर  - 831005


इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से मास्टर्स (हिंदी )

'और बादल छंट गए " एवं "चूड़ी वाले हाथ" कहानी संग्रह प्रकाशित

आकाशवाणी से नियमित प्रसारण एवं कई पुरस्कारों से सम्मानित ...

झारखंड की चर्चित, एवं जमशेदपुर...

Please reload

eKalpana literary magazine

​​Contact & Social Media -

ekalpanasubmit@gmail.com

सभी रचनाएं
ekalpanasubmit@gmail.com पर भेजें
Please reload

Please reload