... ON BORROWING a BOOK VS BUYING IT

""When you buy it, you are promoting the literature of your country.""

आसान है राजनीति उस पर,
जो किसी घटना में जाता है मर,
जिसने परिश्रम किया कस के कमर।

आसान है राजनीति उस पर,
जो किसी घटना में जाता है मर।

क्योंकि वो जिंदा होता अगर,
बताता क्यों ऐसी थी डगर ?
क्यों इतना भयावह था सफर ?
आपकी नीतियों का क्या था असर ?
क्यों सताती थी पेट भरने की फ़िकर?
मिलने जब भी गया आप नहीं...

एक सीधी सरल लाइन लिखना
चाहता हूँ जिसे आप समझ सकें ?

जिसमें आपके सारे जवाब हों,
आधे-अधूरे कुछ टूटे ख्वाब हों,

दिनचर्या से खो चुके जज्बात हों,
आपके अनुकूल ही सब बात हों।


हिम्मत नहीं कि आपकी समझ पर प्रश्नचिन्ह लगाऊँ,
ये समस्या मेरी है कि कैसे आपको समझाऊं?

ये सब कुछ इतना आसान नहीं है,
जमीन पथरीली ह...


पारसी धर्म में रक्त की पवित्रता पर बहुत ध्यान देते हैं यहां तक की वो शुद्ध रक्त ना मिलने पर रक्तदान अस्वीकार करके मौत तक चुन लेते हैं मगर रुश्दी इस से भी ज्यादा महत्व भावना की पवित्रता पर देती थी इसीलिए उसने अर्पण से विवाह किया था.परिवार की इच्छा के विपरीत विवाह हमेशा से संबंधों को चलाने का एक मानस...

आइसक्रीम से उसके होंठों का रंग गुलाबी से नारंगी हो जाता था। ये देखकर वैदिक के लिए उस सस्ती सी स्टिक वाली आरेंज की आइसक्रीम की वास्तविक कीमत लगा पाना मुश्किल हो जाता था। जैसे-जैसे आइसक्रीम का रंग फीका होता जाता उसके होठों का रंग और गाढ़ा होता जाता। घुटने के चोट के निशान के बाद आरेंज की आइसक्रीम ही थी...

उस दिन भी उसने पहले अपनी शर्ट की बांयी फिर दायीं फिर जीन्स की बायीं जेब को देखा पर वो जो ढूंढ रही थी पर हर बार की तरह वो उसकी जींस की सामने वाली दायीं जेब में ही निकला शायद वो भी जानती थी जो वो ढूढं रही थी वो यहीं पर है पर इस तरह ढूंढना उसकी आदत सी हो गयी थी और इस आदत के कारण अनिरुद्ध को भी पता रहता...

Please reload

Contact & Social Media -

ekalpanasubmit@gmail.com

Please reload