... ON BORROWING a BOOK VS BUYING IT

""When you buy it, you are promoting the literature of your country.""

ई-कल्पना पत्रिका की बेहतरीन कहानियाँ

अब कहानी संकलनों के रूप में

"पाँच कहानियाँ"

इन्हें आप बस, ट्रेन या प्लेन के लम्बे सफर में पढ़िये, या ऑफिस जाते वक्त मैट्रो में,

या फिर अपने घर की आराम कुर्सी पर बैठ कर ...

अपने फोन पर, या आई-पैड पर ...

"पाँच कहानियाँ" के हर संकलन की हर कहानी आपका जी लुभा लेगी ...

हर कहानी लिंक क्लिक करके पढ़ी जा सकती है ...

इन संकलनों को आप खरीद भी सकते हैं ...

ई-कल्पना के पहले व दूसरे वॉल्यूम में प्रकाशित कहानियों में सबसे बेहतरीन कहानियों के संकलन अब उपलब्ध हैं!

 

जुलाई कौन्टैस्ट विशेषांक -1

इस संकलन में -

तीन सम्मानित कहानियाँ

1. रोल नम्बर 9 - अजय ओझा (पुरस्कृत)

2. जूते की नोक पर - डॉ रमाकांत शर्मा (पुरस्कृत)

3. बीस वर्ष बाद - मनमोहन भाटिया

दो सम्मानित लघु कहानियाँ

1. सुहाग की चूड़ी - मीरा जैन (पुरस्कृत)

2. आम के तोते - डॉ अनिल भदौरिया

लघु कहानी (निर्णायक रचना )

बिग-क्लाउड-2068 - अनुराग शर्मा